pm vishwakarma yojana 2023. how to apply,सरकार द्वारा 3 लाख तक का लोन 5 %,प्रतिदिन 500 रुपये का स्टाइपेंड भी दिया जाएगा, subsidy gift from finance minister ,full details , online registration

pm vishwakarma yojana: सरकार द्वारा 3 लाख तक का लोन प्रदान किया जाएगा, न्यूनतम ब्याज दर के साथ, केवल ये कागज़ जरूरी| pm vishwakarma yojana के तहत, सरकार ने 18 विभिन्न व्यापारों में लोगों के कौशल को और निखारने के लिए मास्टर ट्रेनरों के साथ प्रशिक्षण भी प्रदान करने का निर्णय लिया है। इसके साथ ही, प्रतिदिन 500 रुपये का स्टाइपेंड भी दिया जाएगा। pm vishwakarma yojana एक उद्यमिता को वित्तीय सहायता प्रदान करने का एक पहल है जिसका उद्देश्य विभिन्न व्यापारों में कौशल और उद्यमिता को बढ़ावा देना है।

हेलो दोस्तों आप सभी का स्वागत है  इस ब्लॉक में आपको pm vishwakarma yojana के विषय में पूरी जानकारी प्राप्त होगी |

 हाल ही में इस योजना का शुभारंभ 17 सितंबर को हुआ है जिसकी घोषणा हमारे प्रधानमंत्री श्री नरेश मोदी ने स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर घोषणा की थी |

 इस ब्लॉग में हम आपको , यह जानकारी प्रदान करेंगे कि यह योजना किन लोगों के लिए है और कौन-कौन से लोग इसमें आवेदन कर सकते हैं और कैसे कर सकते हैं आवेदन राशि कितनी है , प्राप्त राशि कितनी है |

 तो चलते हैं शुरू करते हैं हम अपने ब्लॉग को इसमें शुरुआत करते हैं .

What is pm vishwakarma yojana /क्या है प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना?

दिनांक 17 सितंबर विश्वकर्मा जयंती है pm vishwakarma kaushal samman yojana लॉन्च कर दिया गया है इस योजना से इस योजना के अंतर्गत 18 व्यवसाय से जुड़े लोगों को फायदा होगा जिन्हें आर्थिक सुविधा प्रदान करने के लिए 13000 करोड़ रुपए का प्रथम खंड आवंटन किया गया है | प्रधानमंत्री मोदी ने विश्वकर्मा पूजा के शुभ अवसर पर PM vishwakarma yojana  लॉन्च की है ,13000 करोड़  रुपए , 18 पारंपरिक विषयों से जुड़े लोगों को फायदा |

pm vishwakarma yojana: सरकार द्वारा 3 लाख तक का लोन प्रदान किया जाएगा, न्यूनतम ब्याज दर के साथ, केवल ये कागज़ जरूरी| pm vishwakarma yojana के तहत, सरकार ने 18 विभिन्न व्यापारों में लोगों के कौशल को और निखारने के लिए मास्टर ट्रेनरों के साथ प्रशिक्षण भी प्रदान करने का निर्णय लिया है। इसके साथ ही, प्रतिदिन 500 रुपये का स्टाइपेंड भी दिया जाएगा। pm vishwakarma yojana एक उद्यमिता को वित्तीय सहायता प्रदान करने का एक पहल है जिसका उद्देश्य विभिन्न व्यापारों में कौशल और उद्यमिता को बढ़ावा देना है। इस योजना के तहत, योजना के प्रावधानों के अनुसार उद्यमिता को तकनीकी ज्ञान, प्रशिक्षण, और वित्तीय समर्थन प्रदान किया जाएगा।

pm vishwakarma yojana at a glance

 योजना का नाम  पीएम विश्वकर्मा कौशल सम्मान योजना/
pm vishwakarma kaushal samman yojana
 सरकार    केंद्र सरकार
 घोषणा की तारीख15 अगस्त
लॉन्चिंग तारीख17  सितंबर
किन लोगों को फायदा होगा पारंपरिक कामगारों और कौशल लोगों को
आवंटन राशि  13000 करोड़
अंतिम तारीख निर्धारित नहीं किया गया है
online registration click on
pm awas yojanalink
sahara portal yojana click on
free mobile yojanalink

pm vishwakarma yojana benifiets ,के मुख्य फायदे:

  1. लोन प्रदान: pm vishwakarma yojana के अंतर्गत, उद्यमिता को 3 लाख तक का लोन प्रदान किया जाएगा। यह ऋण बहुत कम ब्याज दर पर होगा, जिससे उद्यमिता को आर्थिक सहायता मिलेगी।
  2. मास्टर ट्रेनरों की प्रशिक्षण: pm vishwakarma yojanaके तहत, उद्यमिता को मास्टर ट्रेनरों के साथ प्रशिक्षण दिया जाएगा। इससे उनके कौशल और प्रतिभा में सुधार होगा, जिससे उनका व्यवसाय और कामकाज में सफलता प्राप्त करने में मदद मिलेगी।
  3. स्टाइपेंड: योजना के अनुसार, प्रतिदिन 500 रुपये का स्टाइपेंड भी प्रदान किया जाएगा, जिससे उद्यमिता को आर्थिक सहायता मिलेगी जब वह प्रशिक्षण कर रहे हों।
  4. pm vishwakarma yojana के तहत 18 वाले लोगों को 5% ब्याज एक लाख का लोन मिलेगा कौशल योजना वित्त वर्ष 2023 -2024 से  2027 2028 तक तक 13000 करोड़ के खर्च किए जाएंगे pm vishwakarma yojana का प्रभाव उन सभी 3000000 पारंपरिक कारीगरों को फायदा होगा जो देश के लोग पीएम विश्वकर्मा योजना 2023 के अंतर्गत पहले चरण में इन सभी कामगारों को 5% ब्याज दर पर ₹100000 और दूसरे चरण में ₹200000 दिए जाएंगे इस योजना के अंतर्गत कामगारों और सिर्फ कारों को सरकार की तरफ से ट्रेनिंग की सुविधा प्राप्त होगी

pm vishwakarma yojana के लाभार्थी:

  • पारंपरिक कौशल वाले लोग
  • व्यवसाय शुरू करने के इच्छु

pm vishwakarma yojana: जानिए क्या है और कैसे काम करेगी

पीएम विश्वकर्मा योजना, जिसे PM Vishwakarma Yojana के नाम से जाना जाता है, एक सरकारी योजना है जो पारंपरिक कौशल वाले व्यक्तियों को उनके व्यवसाय की शुरुआत करने में मदद करने के लिए शुरू की गई है। pm vishwakarma yojana के अंतर्गत, सरकार ने 18 पारंपरिक कौशल वाले व्यवसायों को शामिल किया है, जिसमें सुनार, लोहार, नाई, चर्मकार, कारपेंटर, नाव बनाने वाले, ताला बनाने वाले, मिट्टी के बर्तन बनाने वाले (कुम्हार), मूर्तिकार, राज मिस्त्री, मछली का जाल बनाने वाले, और खिलौने बनाने वाले शामिल हैं।

  • व्यवसाय शुरू करने का समर्थन: pm vishwakarma yojana के अंतर्गत, पारंपरिक कौशल वाले व्यक्तियों को उनके व्यवसाय की शुरुआत करने के लिए वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी।
  • स्किल ट्रेनिंग: योजना के तहत, लाभार्थीयों को स्किल ट्रेनिंग प्रदान की जाएगी, जो उनके कौशलों को निखारेगी और उन्हें उनके क्षेत्र में माहिर बनाएगी।
  • फाइनेंशियल सहायता: pm vishwakarma yojana के अंतर्गत, लाभार्थियों को 3 लाख रुपये तक का लोन प्रदान किया जाएगा, जिसका ब्याज दर बहुत कम होगा।

pm vishwakarma yojana के माध्यम से, सरकार पारंपरिक कौशल वाले व्यक्तियों को उनके कारोबार की सुरुआत करने में मदद करने का प्रयास कर रही है, जिससे उन्हें आर्थिक रूप से स्वावलंबी बनने का अवसर मिल सके।

पीएम मोदी के भाषण का संक्षिप्त विवरण:

विश्वकर्मा जयंती के इस महत्वपूर्ण मौके पर, हमें यह याद दिलाना अत्यंत महत्वपूर्ण है कि हमारे समाज में जो कार्यकर्ता समृद्धि की इमारत की नींव रखते हैं, उन्हें हमें सम्मान और प्रशंसा का पात्र होना चाहिए। विश्वकर्मा समुदाय के सदस्य विशेषज्ञता और कुशलता के अद्वितीय स्रोत होते हैं, जिनके बिना समाज की प्रगति असंभव होती।

हमारे कामगार, जैसे कि लोहार, दर्जी, और जूते वाले, समृद्धि के प्रमुख अंग होते हैं और उनकी महत्वपूर्ण भूमिका हमारे जीवन में कभी समाप्त नहीं हो सकती। आज भी हम उनके तैयार किए उत्पादों की मूल स्वाद का आनंद लेते हैं, जैसे कि मटके और सुराही का पानी। चाहे तकनीक जितनी भी आगे बढ़ जाए, इनका महत्व हमेशा बना रहेगा। हमारी सरकार उनके सम्मान करने और उनके कौशल को बढ़ावा देने के लिए सहयोगी बनी हुई है।

हम जानते हैं कि ऐसे गांव बिल्कुल ही कम होंगे, जहां विभिन्न पेशेवरों की आवश्यकता नहीं हो। pm vishwakarma yojana के माध्यम से हमने इन सभी लोगों को शामिल किया है ताकि सभी को समाज में समान अवसर मिल सकें। सरकार इस योजना के लिए अधिकांश धनराशि निर्धारित की है, जिससे हम सभी के समृद्धि की दिशा में मदद कर सकें।

मैं 30-35 साल पहले ब्रसेल्स गया था और वहां ज्वेलरी मार्केट के बारे में एक रोचक बात सुनी थी। वहां के लोग मशीन से बनी ज्वेलरी की बजाय हाथ से बनी ज्वेलरी की बढ़ती मांग पर ध्यान केंद्रित कर रहे थे। यह दिखाता है कि आधुनिकता के बावजूद, हाथ से बनी वस्त्र और उपकरणों की मांग हमेशा बनी रहती है। हमें अपने सामर्थ्य को बढ़ाने का प्रयास करना चाहिए ताकि हमारे उत्पाद विश्व बाजार में मान्यता प्राप्त कर सकें।

ट्रेनिंग के प्रति हमारी दृष्टि भी है, जो विश्वकर्मा समुदाय के सदस्यों के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है। ट्रेनिंग के दौरान, सरकार द्वारा दिए जाने वाले बत्ते के रूप में हर रोज 500 रुपए का भत्ता भी मिलेगा, जो समृद्धि के लिए उन्हें प्रोत्साहित करेगा। टूलकिट के लिए 15 हजार का वाउचर भी प्रदान किया जाएगा, जो उनके उपकरणों की खरीदारी के लिए मददगार होगा। साथ ही, मार्केटिंग के क्षेत्र में भी सरकार समर्थन प्रदान करेगी। हम एक सशक्त और स्वावलंबी समाज की दिशा में कदम बढ़ाने के लिए सरकार के साथ काम कर रहे हैं।

कॉन्फ्रेंस टूरिज्म के लिए, हमारा सुझाव है कि यशोभूमि को एक प्रमुख कॉन्फ्रेंस और पर्यटन केंद्र के रूप में बढ़ावा दिया जाए। यशोभूमि का स्थान एक महत्वपूर्ण पर्यटन गंधर्वशाला के रूप में विकसित किया जा सकता है, जिससे स्थानीय आर्थिक विकास को प्रोत्साहित किया जा सकता है और नए रोजगार के अवसर बन सकते हैं। यह हमारे देश को वैश्विक मंच पर भी अधिक प्रतिष्ठा दिलाने का साधन कर सकता है, और हम आपके सुझाव के साथ मिलकर इस कार्य में सफलता प्राप्त करने की कोशिश करेंगे।

PM vishwakarma yojana implementation.

pm vishwakarma yojana के लॉन्चिंग के मौके पर सभी 70 मंत्री , रहे जिसमें अमित शाह अहमदाबाद के लिए राजनाथ सिंह लखनऊ के लिए महेंद्र नाथ पांडे वाराणसी स्मृति ईरानी झांसी गजेंद्र सिंह शेखावत चलने के लिए भूपेंद्र यादव जयपुर के लिए नरेंद्र सिंह तोमर भोपाल के लिए एस जयशंकर तिरुअनंतपुरम में रहे नितिन गडकरी नागपुर के लिए अश्वनी वैष्णव भुनेश्वर के लिए और अनुराग ठाकुर शिमला में रहे जिससे यह पता चलता है कि पीएम मोदी योजना के लिए कितने आवश्यक कदम उठा रहे हैं जिससे ग्राउंड जीरो के रियालिटी बता सके और आम लोगों तक इस योजना का लाभ पहुंच सके जिससे हमारे देश के मुंह पर पत्थर के लोगों को भी सबसे निचले स्तर के लोगों को भी इस योजना का लाभ मिल सके और देश से देश की उन्नति के लिए भागीदार बन सकें और अपने जीवन स्तर को सुधार सकें| हाल ही में G20 समिट में पीएम मोदी ने लखनऊ के कार्य के हाथ से बनाए गए कलर्स को जर्मनी के प्रधानमंत्री को भी प्रदान की इस कलश में नक्काशी दार तरीके से इसे आकृतियां की गई थी जो बेहद भावुक और आकर्षित थी|

 इससे इससे यह पता चलता है कि प्रधानमंत्री मोदी इस vishwakarma yojana के लिए खुद मास्टर बन के देश के कौशल विकास कौशल को आगे बढ़ाने के लिए यह योजना कौशल को देश में ही नहीं रखना चाहते इसको बाहर विदेशों में भी प्रचार करना चाहते हैं जिन जिससे लोगों की आमदनी 10 गुनी बढ़ सके

pm vishwakarma yojana list किन-किन लोगों को फायदा:

18 विभिन्न व्यापारों में लोगों के कौशल लिस्ट नीचे दिया गया है

  1.  कारपेंटर बधाई
  2.  नाव बनाने वाले
  3.  अस्त्र बनाने वाले
  4.   लोहार
  5.  ताला बनाने वाले
  6.  हथौरा और टूलकिट निर्माता
  7.  सुनार
  8.  कुम्हार
  9.  मूर्तिकार
  10.  मोची
  11.  राजमिस्त्री
  12.  टोकरी झाड़ू चटाई बनाने वाले
  13.  गुड़िया बनाने वाले
  14. नई
  15.  मालाकार
  16. धोबी
  17. दर्जी
  18.  मछली का जाल बनाने वाले

 स्वतंत्रता दिवस के शुभ अवसर पर इसका जिक्र किया था

 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण में लाल किले से यह घोषणा की गई थी कि सरकार ने छोटे काम करो कौशल वाले लोगों को आर्थिक विद्युत सहायता प्रदान करेगी जिससे इन लोगों की आर्थिक स्थिति और देश की उन्नति होगी इस योजना के तीन मंत्रालय होंगे जिसमें एम एस एम ई कौशल विकास और वित्त मंत्रालय शामिल होंगे

pm vishwakarma yojana online registration/apply

Go to the official website –vishwakarma.gov.in

  1. mobile and aadhar verification for EKYC
yojanawalah.com, vishwakarma yojana online registration process

Step 2.artisan registration form . fill this form related to your work or art details

Step 3. pm vishwakarma certificate , download the vishwakarma digitala id card and certificate

Step 4.Start apply for different components,.

pm vishwakarma yojana

1 thought on “pm vishwakarma yojana 2023. how to apply,सरकार द्वारा 3 लाख तक का लोन 5 %,प्रतिदिन 500 रुपये का स्टाइपेंड भी दिया जाएगा, subsidy gift from finance minister ,full details , online registration”

Leave a comment